Air Pollution: प्रदूषण से बिगड़ी दिल्ली की ‘सेहत’, हवा आज भी ‘गंभीर’ श्रेणी में, AQI 436




स्टोरी हाइलाइट्स दिल्ली की हवा में बढ़ा प्रदूषण का स्तर दिल्ली की वायु की गुणवत्ता बेहद खराब Delhi AQI Updates: राष्ट्रीय राजधानी दिल्ली में आज (रविवार) भी प्रदूषण से राहत नहीं है. दिवाली के तीन दिन बाद भी दिल्ली के आसमान में पॉल्यूशन की चादर से धुंध छाई हुई है. राजधानी में बढ़ते प्रदूषण के स्तर के बीच पड़ोसी राज्य पंजाब के किसान खेतों में पराली जला रहे हैं. जिसने दिल्ली की हवा की सेहत बिगड़ रही है. दिल्ली में अभी भी प्रदूषण का स्तर ‘गंभीर’ श्रेणी में बना हुआ है. 

सिस्टम ऑफ एयर क्वालिटी एंड वेदर फॉरकास्टिंग एंड रिसर्च (SAFAR) के आज (रविवार) सुबह जारी किए गए आंकड़ों के अनुसार, आज भी राजधानी की हवा लगातार ‘गंभीर श्रेणी’ में बनी हुई है. दिल्ली का औसतन वायु गुणवत्ता सूचकांक यानी एयर क्वालिटी इंडेक्स (AQI) 436 दर्ज किया गया है.

Delhi’s overall air quality continues to remain ‘severe’ with Air Quality Index (AQI) standing at 436: System of Air Quality & Weather Forecasting & Research (SAFAR) https://t.co/qfXjSiNc3c
— ANI (@ANI) November 7, 2021
दिल्ली में पीएम 2.5 का स्तर 286, जबकि पीएम 10 का स्तर 412 माइक्रोग्राम प्रति क्यूबिक मीटर दर्ज किया गया है. केंद्रीय प्रदूषण नियंत्रण बोर्ड (CPCB) के आंकड़ों के अनुसार, दिल्ली-एनसीआर में शनिवार को औसत वायु गुणवत्ता सूचकांक (AQI) 462 दर्ज किया गया था.

हवा का रुख बदलने से बढ़ा प्रदूषण!एक्सपर्ट का कहना है कि हवा का रुख बदलने के कारण प्रदूषण की स्थिति गंभीर हुई है. पड़ोसी राज्यों में जल रही पराली का धुआं हवा के रुख से दिल्ली आया है. जिससे आसमान में स्मॉग की चादर छाई है. 

यूपी के कई शहरों में की हवा भी बहुत खराब

केंद्रीय प्रदूषण नियंत्रण बोर्ड (CPCB) के आंकड़ों के अनुसार, उत्तर प्रदेश के कई शहरों की हवा में प्रदूषण का स्तर बढ़ा है. मुरादाबाद और कानपुर में हवा की गुणवत्ता यानी एयर क्वालिटी इंडेक्स (AQI) बहुत खराब श्रेणी में है.

Overall air quality in ‘very poor’ category in Kanpur (pic 1) and Moradabad (pic 2): Central Pollution Control Board pic.twitter.com/cxbvXClJZf
— ANI UP (@ANINewsUP) November 7, 2021
बता दें कि एयर क्वालिटी इंडेक्स (AQI) को शून्य और 50 के बीच ‘अच्छा’, 51 और 100 के बीच ‘संतोषजनक’, 101 और 200 के बीच ‘मध्यम’, 201 और 300 के बीच ‘खराब’, 301 और 400 के बीच ‘बहुत खराब’ और 401 और 500 के बीच ‘गंभीर’ श्रेणी में माना जाता है.

ये भी पढ़ें-

 

 




Source link

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here