Sweden: स्वीडन की पहली महिला पीएम बनने के कुछ घंटों बाद ही चली गई कुर्सी, जानें ऐसा कैसे हुआ


Sweden First Female PM Resign: स्वीडन की प्रधानमंत्री चुने जाने के कुछ घंटों बाद ही संसद में बजट प्रस्ताव गिरने के कारण मेगदालेना एंडरसन को इस्तीफा देना पड़ा. उन्होंने बुधवार को अपने पद से इस्तीफा दे दिया. इसके साथ ही सहयोगी दल द ग्रीन्स ने सरकार से समर्थन भी वापस ले लिया.

एंडरसन ने इस्तीफे पर क्या कहा?
एंडरसन ने संवाददाताओं से कहा, “मेरे लिए यह सम्मान का प्रश्न है लेकिन मैं ऐसी सरकार का नेतृत्व नहीं करना चाहती जिसकी वैधानिकता पर सवाल खड़ा किया जा सके.” एंडरसन ने संसद के अध्यक्ष एंड्रियास नोरलेन से कहा है कि वह अब भी ‘सोशल डेमोक्रेटिक’ की एक पार्टी की सरकार का नेतृत्व करने की इच्छुक हैं.

लेकिन, उन्होंने कहा कि अगर एक पार्टी सरकार से समर्थन वापस लेती है तो गठबंधन की सरकार को इस्तीफा दे देना चाहिए. स्वीडन की 349 सीटों वाली संसद के अध्यक्ष एंड्रियास नोरलेन ने कहा कि उन्हें एंडरसन का इस्तीफा मिल गया है और वह स्थिति पर चर्चा के लिए पार्टी के नेताओं से बात करेंगे.

कैसे पीएम बनी थीं एंडरसन?
स्वीडन की 349 सदस्यों वाली संसद में 117 सदस्यों ने एंडरसन के पक्ष में वोट डाला था जबकि 174 ने विरोध में वोट डाला था. ऐसे में स्वीडन के संविधान के मुताबिक, अगर 175 सांसद किसी उम्मीदवार के खिलाफ नहीं हैं तो उसे प्रधानमंत्री नियुक्त किया जा सकता है. इसीलिए उन्होंने प्रधानमंत्री बनाया गया था.

बता दें कि स्टीफन लोफवेन की जगह पर मेंगडालेन को प्रधानमंत्री बनाया गया था क्योंकि लोफवेन ने इसी साल की शुरुआत में प्रधानमंत्री पद से इस्तीफा दे दिया था. हालांकि, वह फिलहाल कार्यवाहक प्रधानमंत्री की जिम्मेदारी संभाल रहे थे. वहीं, एंडरसन प्रधानमंत्री बनाए जाने से पहले वित्त मंत्री थीं.

यह भी पढ़ें-

Pakistan PM on Economy : प्रधानमंत्री इमरान खान ने माना पाकिस्तान हुआ कंगाल, बोले- देश चलाने के लिए नहीं बचे पैसे

PM Garib Kalyan Anna Yojana: पीएम गरीब कल्याण अन्न योजना की मियाद बढ़ी, अगले साल मार्च तक मिलता रहेगा मुफ्त राशन



Source link

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here